शनिवार, 21 मार्च 2020

आईएएस (IAS) अधिकारी कैसे बनें? | How to Become a IAS Officer, UPSC Exam

आईएएस (IAS) अधिकारी कैसे बनें? | How to Become a IAS Officer, UPSC Exam

आईएएस (IAS) अधिकारी कैसे बनें?: हर किसी का जिन्दगी में एक सपना होता है कि आगे जा करके कुछ ना कुछ बने और अपना व अपने परिवार का नाम रोशन करे, और इसके लिए कड़ी मेहनत करते हैं। इसके लिए UPSC Exam पास करना बहुत जरुरी है। 


कुछ लोग इन्जीनियर तो कुछ लोग डाक्टर और कुछ लोग आईएएस (IAS)  Officer बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं। अपना और अपने परिवार का नाम रोशन करना चाहते हैं, लेकिन एक IAS Officer बनना इतना आसान नहीं है।

उसके लिए कड़ी मेहनत के साथ साथ स्मार्ट स्टडी करना भी बहुत जरूरी है। आप को जानकारी अच्छी और लाभदायक लगे तो अपने दोस्तों के बीच जरूर शेयर करें। 

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का स्वागत है "Jobs Anuragie"  एजुकेशन वेबसाइट पर, इस आर्टिकल में आप जानेगे कि IAS Officer कैसे बना जाए, और IAS Exams की पुरी जानकारी। 


आईएएस (IAS) अधिकारी कैसे बनें? | How to Become an IAS Officer


आईएएस (IAS) भारत की सबसे सर्वश्रेष्ठ और कठिन पढाई में से एक मानी जाती है, इस Exam को पास करने के लिए लाखों छात्र हर साल परिक्षा देते हैं, लेकिन सिर्फ गिने चुने तेज दिमाग वाले छात्र ही इस परिक्षा को पास कर पाते हैं। और कुछ छात्र ऐसे भी होते हैं जिनको इस परिक्षा के बारे में कोई जानकारी नहीं होती फिर भी वह परिक्षा देने बैठ जाते हैं। इसीलिए कहा जाता है कि कोई भी परिक्षा देने से पहले उसके बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए। 

IAS Officer क्या होता है?


सबसे पहले जान लेते हैं कि IAS officer क्या होता है और IAS officer की पावर क्या है, यह क्या काम करते हैं, और IAS officer बनने के लिए क्या शैक्षणिक योग्यता होनी चाहिये। 

IAS (Indian Administrative Service) - Candidates who have secured top rank in the Civil Services Examination are made IAS. IAS officers get the law enacted in Parliament implemented in their areas. At the same time, they also play an important role in making new policies or laws. IAS officers can also become cabinet secretary, undersecretary, etc.

IAS का फुलफॉर्म (Indian Administrative Service) है जिसे हम भारतीय प्रशासनिक सेवा यानि आईएएस (IAS) भी कहते हैं। हर साल UPSC इस परिक्षा को करवाता है, UPSC हर साल करीब 24 सर्विस देने के लिए इस परिक्षा को संचालित करती है। जिसमें आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS), इत्यादि UPSC वेस्ड आईएएस एग्जाम पास करने के बाद आपको अलग अलग जोन में भेजा जाता है। जैसे कि डीएम (DM), SDM इत्यादि और भी कई सारे पोस्ट होते है जिसे आपको IAS Exam पास करने के बाद दिया जाता है और हर आईएएस का काम अपने जोन में अलग अलग होता है। 



IAS अधिकारी के लिए पात्रता मानदंड, What is the qualification of IAS?



  • कैंडिडेंट इंडिया, नेपाल या भूटान का होना चाहिए 
  • ग्रेजुएट होने चाहिए किसी भी सब्जेक्ट में 



आईएएस (IAS) अधिकारी बनने की प्रक्रिया:



1. १२वीं पास करें किसी भी सब्जेक्ट से अगर आपको आईएएस अफसर बनना है तो इसके लिए 12th  की परीक्षा पास करनी पड़ेगी, अगर आप अभी स्कूल में हैं तो किसी भी स्ट्रीम (सब्जेक्ट) से साइंस हो, कॉमर्स हो, या आर्ट सब्जेक्ट बस आपको पहले १२वीं पास करनी होगी। 

2. ग्रेजुएशन पूरी करें किसी भी स्ट्रीम में जैसे ही आप १२वीं पासकर लें इसके बाद आप अपने हिसाब से जिस किसी सब्जेक्ट में आपका इंटरेस्ट सबसे ज्यादा हो उसमे ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी करें। क्योंकि एक आईएएस अफसर बनने के लिए ग्रेजुएशन होना बहुत जरुरी है। तभी आप UPSC के सिविल सर्विस के एग्जाम में आप बैठ सकते है। बिना ग्रेजुएशन डिग्री के आप इस एग्जाम को नहीं दे सकते। 

3. अब UPSC एग्जाम को अप्लाई करें जी हाँ जैसे ही आपकी ग्रेजुएशन पूरी हो जाये तो इसके बाद UPSC Exam के लिए अप्लाई करना होगा या तो आप चाहे फाइनल ईयर में इस एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते है। 

4. तो अगर आप आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS) जैसे एग्जाम देना चाहते है तो सभी के लिए UPSC Exam देना होगा क्योंकि UPSC ही इन एग्जाम को कंडक्ट करता है। और यह सबसे मुश्किल एग्जाम है जैसे ही आप UPSC एग्जाम के लिए अप्लाई कर देते है तो इसके बाद आपको तीन मेन एग्जाम को पास करना होगा। 


  1. IAS Preliminary Exam (2 papers of 200 marks each)
  2. IAS Main Exam (Written exam 9 papers)
  3. IAS Personality Test (275 marks)




भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए अधिकारियों के चयन के लिए IAS का आयोजन किया जाता है। IAS परीक्षा पैटर्न distribution of questions, marking schemes, sectional weightage, and duration के बारे में बात करता है। IAS के सभी तीन चरणों के लिए संक्षिप्त विवरण निम्नलिखित हैं:

IAS प्रारंभिक परीक्षा (IAS Preliminary Exam): इसमें वस्तुनिष्ठ प्रकार के दो पेपर होते हैं और इसमें अधिकतम 400 अंक होते हैं। यह एक क्वालीफाइंग दौर है और कुल IAS स्कोर में अंक नहीं जोड़े जाते हैं। नेक्स्ट राउंड में जाने के लिए आपको यह परीक्षा पास करना होगा। 

IAS मुख्य परीक्षा (IAS Main Exam):  दो प्रकार के पेपर होते हैं- क्वालीफाइंग पेपर और पेपर जो मेरिट के लिए गिने जाएंगे। पूर्व में दो भाषा परीक्षाएं शामिल होंगी, एक उम्मीदवार की पसंद और अन्य अंग्रेजी। उत्तरार्द्ध में 9 पेपर शामिल होंगे जिसमें 7 मेरिट और 2 क्वालिफाइंग लैंग्वेज पेपर शामिल होंगे। मुख्य परीक्षा में निबंध लेखन और वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न दोनों शामिल होंगे। सभी पेपरों का कुल योग और साक्षात्कार के दौर में सुरक्षित अंक का उपयोग उम्मीदवारों की रैंकिंग के लिए किया जाएगा।


मेन्स के लिए IAS परीक्षा पैटर्न



  • IAS Mains भी एक ऑफ़लाइन परीक्षा है। प्रत्येक पेपर में 250 अंक होंगे।
  • प्रत्येक पेपर 3 घंटे का होता है। नेत्रहीन छात्रों को 30 मिनट अतिरिक्त दिए जाते हैं।
  • परीक्षा में 9 पेपर होंगे। एक उम्मीदवार का विषय के ज्ञान और समझ के आधार पर परीक्षण किया जाएगा
  • प्रश्न प्रकृति में उद्देश्यपरक और व्यक्तिपरक दोनों होंगे। उन्हें हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में दिया जाएगा।

IAS Mains को आगे दो प्रकारों में विभाजित किया जाता है - योग्यता परीक्षा और मेरिट परीक्षा। दोनों में उपस्थित होना अनिवार्य है।

क्वालीफाइंग पेपर्स-



पेपर A: (भारतीय भाषाओं में से एक जिसे संविधान की 8 वीं अनुसूची में शामिल लोगों में से चुना जाना है - 300 अंक)

पेपर B: अंग्रेजी - 300 मार्क्स

मेरिट परीक्षा- उम्मीदवारों को परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए योग्यता परीक्षा में न्यूनतम प्रतिशत अंक प्राप्त करने होंगे। उम्मीदवार के बौद्धिक और पारस्परिक कौशल का परीक्षण करने के लिए प्रश्न पत्र तैयार किए जाते हैं। निबंध प्रकार के प्रश्न विषय और अवधारणा के बारे में छात्र की समझ का परीक्षण करेंगे। छात्रों का परीक्षण एक भारतीय भाषा के बल पर किया जाएगा। दो वैकल्पिक प्रश्नपत्र होंगे जिनका चयन उम्मीदवारों को करना होगा।




IAS व्यक्तित्व परीक्षण (IAS Personality Test): मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण उम्मीदवारों के लिए 275 अंकों का साक्षात्कार लिया जाएगा। इसमें साइकोमेट्रिक टेस्ट, असेसमेंट टेस्ट के साथ-साथ पर्सनल इंटरव्यू भी शामिल होगा। परीक्षण में प्राप्त अंकों को अंतिम मेरिट सूची की घोषणा के लिए गणना में जोड़ा जाएगा।


  • मेन्स परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले सभी उम्मीदवार व्यक्तित्व परीक्षण की ओर अग्रसर होंगे।
  • इसमें साइकोमेट्रिक टेस्ट, असेसमेंट टेस्ट के साथ-साथ पर्सनल इंटरव्यू भी शामिल होगा।
  • साक्षात्कार का उद्देश्य सक्षम बोर्ड और निष्पक्ष पर्यवेक्षकों द्वारा सार्वजनिक सेवा में कैरियर के लिए उम्मीदवार की व्यक्तिगत उपयुक्तता का आकलन करना है। उनसे सामान्य हित के मामलों पर सवाल पूछे जाएंगे।
  • परीक्षण एक उम्मीदवार के मानसिक क्षमता का न्याय करने का इरादा है।
  • व्यापक रूप से, यह वास्तव में न केवल उनके बौद्धिक गुणों बल्कि सामाजिक लक्षणों और वर्तमान मामलों में उनकी रुचि का आकलन है।
  • न्याय किए जाने के कुछ गुणों में मानसिक सतर्कता, आत्मसात करने की महत्वपूर्ण शक्तियां, स्पष्ट और तार्किक अभिव्यक्ति, निर्णय का संतुलन, विविधता और रुचि की गहराई, सामाजिक सामंजस्य और नेतृत्व की क्षमता, बौद्धिक और नैतिक अखंडता शामिल हैं।
तो इस तरीके से सारे स्टेप को फॉलो करते हैं तो आप आईएएस (IAS) Officer बन जायेंगे, लेकिन याद रहे।  यह इतना आसान नहीं है इसके लिए आपको हो सकता है अलग से ट्यूशन लेनी पड़े या आप सेल्फ स्टडी करके UPSC Exam पास करना चाहते है तो कर सकते है, बस ध्यान रखिये कि यह Exam इंडिया का सबसे मुश्किल परीक्षा माना जाता है। 

अगर आप वाकई में आईएएस (IAS) Exam  पास करना चाहते है तो ध्यान लगा के पुरे फोकस के साथ एक समय में एक ही गोल पर ध्यान दे और ऐसा करेंगे तो आप अपने गोल (UPSC Exam पर पहुंच जायेंगे। 

यह पोस्ट आईएएस (IAS) ऑफिसर कैसे बने (How to Become a IAS Officer), पर था उम्मीद है आपको पसंद आया होगा और इस पोस्ट को शेयर करना न भूले। 'Jobs Anuragie' Web पेज पर विजिट के लिए धन्यवाद्  ऐसा ही जानकारी के लिए और एजुकेशन टिप्स के लिए इस वेबसाइट को याद रखिये 'जॉब्स  अनुरागी'। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Please do not enter any spam link in the comment box.